असली इंजीनियर वही लौंडा होता था

असली इंजीनियर वही लौंडा होता था जो साइकिल का हैंडल टेढ़ा हो जाने पर,

अगला पहिया दोनों टांग के बीच में फंसा कर ,

बिलकुल सटीक हैंडल सीधा कर लेता था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *