Meri Chappal Koi Chura ke Le Gaya,…!!!

रंग से गोरी न थी ,
लेकिन सुन्दर थी ,


बहुत ऊंची न थी ,
लेकिन मेरे लिए योग्य थी ,

प्रेम देने वाली न सही लेकिन
मेरे कदमो से कदम मिलती थी।
,
,
,
मंदिर आने से इनकार करती थी,
लेकिन बाहर मेरा इंतज़ार करती थी
,
,
कही भी जाओ मेरे साथ चल देती थी
जहां रूकु मेरे लिए रूक जाती थी वो ….
,
,
कोई मुझे प्यार करे न करे पर वो मुझे बहुत प्यार करती थी
,
,
बड़ी मेहनत से पाया था उसे
बहुत चक्कर लगाया था उसे पाने के लिए
,
,
हजारो की भीङ से ढूढा था अपने लिऐ
घरवालो की नाराजगी झेलकर अपनाया था
,
वो जो हमेशा मेरे साथ रही
,
,
पर आज मुझे छोड़कर चली गयी
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
मेरी चप्पल थी ….
साला कोई चुरा कर ले गया !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *