परेशानी का कोई मापदंड नही होता ” साहेब “

परेशानी का कोई मापदंड नही होता ” साहेब ”
.
.
.
.
कुछ लोग तो यही सोचकर परेशान रहते हैं
ये लड़का दिनभर मोबाइल में करता क्या है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *