Best Anmol Vachan msg in Hindi with free wallpaper images

Best Anmol Vachan अनमोल वचन Suvichar In Hindi. अनमोल वचन और सुविचार Hindi Me. If You are Looking for Anmol Vachan and Anmol Vachan Suvichar in Hindi You Can Here Find Best Quotes and Sayings in Hindi Language Font With Images Share With Facebook and Whatsapp Friends and Family.

Best anmol vachan in Hindi with wallpaper images

Anmol Vachan, hindi anmol vachan wallpapers, anmol vachan in hindi love, anmol vachan in hindi image, anmol vachan download, anmol vachan in hindi pdf, anmol vachan in hindi msg, anmol vachan in hindi free, anmol vachan shayari, Suvichar, Suvichar Hindi me, Suvichar in Hindi, Hindi suvichar list, suvichar in hindi wallpaper, suvichar in hindi images love, hindi suvichar with meaning, hindi suvichar on life, suvichar in hindi facebook, suvichar in hindi images hd,

कुछ लोग तो आपसे सिर्फ इसलिए भी नफरत करते हैं, क्‍योंकि…
बहुत सारे लोग आपसे प्‍यार करते है ।।

Kucch Log To Aapse Sirf Isliye Bhi Nafrat Karte Hain, Kyoki…
Bahut Sare Log Aapse Pyar Karte Hai


.!! उत्‍तम विचार !!…..
प्रभु न दंड देते है, प्रभु न माफ करते है,
वह तो कर्म-फल के तराजू है…
जो बस इंसाफ करते है
सुख-दुख का बटन तेरे हाथ में है बन्‍दे,
तुम उसे खुद ही ऑन करते हो और ऑफ करते हो
ईश्‍चर के न्‍याय की चक्‍की धीमी जरूर चलती है
पर पीसती बहुत बारीक है।

Uttam Vichar!!
Prabhu Na Dand Dete Hai Aur Na Maaf Karte Hai,
Ve To Karma-Phaal Ke Taraju Hai
Jo Bas Insaaf Karte Hain,
Sukh-Dukh Ka Batan Tumhare Hath Mein Hai,
Tum Use Khud He On Karte Ho Aur OFF Karte Ho
Ishwar Ke Nyay Ki Chakki Dhimi Jarur Jalti Hai
Par Peesti Bahut Barik Hai….

Latest anmol vachan in Hindi and English

Anmol Vachan – अनमोल वचन पढ़ने से हमारे दिन की शुरवात अच्छी होती है। अनमोल वचन – हमारे मन को शुद्ध करते है। और सकारात्मक सोचने की शक्ति को बढ़ते है। यहाँ पर कुछ चुनिन्दा Anmol Vachan दिये है जो जरुर आपके जीवन में बदलाव लायेंगे। जरुर पढ़े और अच्छे लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरुर Share करे। क्योकि, अपने तो अपने होते है!


जिस धागे की गांठें खुल सकती हैं
उस धागे पर कैंची नहीं चलानी चाहिए।

Jis Dhage Ki Gandhe
Khul Sakti Hai Us Dhage Par
Kaichi Nahi Chalani Chahiye!!


आधी जिंदगी गुजार दी
हमनें पढ़ते-पढ़ते
और सीखा क्‍या ?
”एक दूसरे को नीचा दिखाना”

Aadhi Zindagi Guzar Di
Humnein Padhte-Padhte
Aur Sikha Kya?
Ek Dusre Ko Neecha Dikhana!


Aap Kab Sahi They,
Ise Koi Yaad Nahi Rakhta,
Aap Kab Galat They,
Ise Koi Nahi Bhulta!


आप कब सही थे
इसे कोई याद नहीं रखता,
आप कब गलत थे
इसे कोई नहीं भूलता!


त्याग दी सब ख्वाहिशें
कुछ अलग करने के लिए
“राम” ने खोया बहुत कुछ
“श्री राम” बनने के लिए


दुःख में इंसान ईश्वर को याद करता है लेकिन सुख में इंसान ईश्वर को भूल जाता है।
अगर सुख में भी इंसान ईश्वर के करीब रहे तो दुःख ही क्यों हो


पेड़ कभी डाली काटने से नहीं सूखता
पेड़ हमेशा जड़ काटने से सूखता है……..
वैसे ही इंसान अपने कर्म से नहीं
बल्कि अपने छोटी सोच और गलत व्यवहार से हारता है…… !!!!


शत्रु को सदैव भ्रम में रखना चाहिए । जो उसका अप्रिय करना चाहते हो तो उसके साथ सदा मधुर व्यवहार करो, उसके साथ मीठा बोलो । शिकारी जब हिरण का शिकार करता है तो मधुर गीत गाकर उसे रिझाता है, और जब वह निकट आ जाता है, तब वह उसे पकड लेता है


विद्या के अलंकार से अलंकृत होने पर भी दुर्जन से दूर ही रहना चाहिए, क्योंकि मणि से भूषित होने पर भी क्या सर्प भयंकर नहीं होता


शत्रु को सदैव भ्रम में रखना चाहिए । जो उसका अप्रिय करना चाहते हो तो उसके साथ सदा मधुर व्यवहार करो, उसके साथ मीठा बोलो । शिकारी जब हिरण का शिकार करता है तो मधुर गीत गाकर उसे रिझाता है, और जब वह निकट आ जाता है, तब वह उसे पकड लेता है


मनुष्य को चाहिए कि दुराचारी, कुदृष्टि वाले, बुरे स्थान में रहने वाले और दुर्जन मनुष्य के साथ मित्रता न करें, क्योंकि इनके साथ मित्रता करने वाला मनुष्य शीघ्र ही नष्ट हो जाता है


इच्छाओं को थोड़ा घटाकर देखिए आपको खुशियों का संसार नज़र आएगा


दांतों को आराम देकर देखिए आपका स्वास्थ्य सुधर जाएगा


आँखें को थोड़ा भिगा कर देखिए आपका पत्थर दिल पिघल जाएगा


मस्तक को थोड़ा झुकाकर देखिए आपका अभिमान मर जाएगा


परिश्रम वह चाबी है जो सौभाग्य के द्वार खोलती है


ईश्वर हर जगह नहीं हो सकते इसलिए उन्होंने माँ को बनाया


मुसीबत में अगर मदद मांगो तो सोच कर मांगना क्योकि…
मुसीबत थोड़ी देर की होती है और एहसान जिंदगी भर का..!!


अपनी कमियाँ पूरी दुनिया से छिपाइए, लेकिन अपनी कमियाँ कभी खुद से मत छिपाइए
अपनी कमियाँ खुद से छिपाने का मतलब होता है, अपने आप को खुद बर्बाद करना


अपनी कमियाँ पूरी दुनिया से छिपाइए, लेकिन अपनी कमियाँ कभी खुद से मत छिपाइए
अपनी कमियाँ खुद से छिपाने का मतलब होता है, अपने आप को खुद बर्बाद करना


दुनिया में सब चीज मिल जाती है,….
केवल अपनी गलती नहीं मिलती…..


पैर की मोच और छोटी सोच,
हमें आगे बढ़ने नहीं देती


लगातार हो रही असफलताओं से निराश नही होना चाहिये..
कभी कभी गुच्छे की आखिरी चाभी ताला खोल देती है…..


सफलता की कहानियां मत पढ़ो
उससे आपको केवल एक सन्देश मिलेगा।
असफलता की कहानियां पढ़ो उससे आपको
सफल होने के कुछ विचार मिलेंगे।


वक्‍त सबको मिलता है, जिंदगी बदलने के लिए
पर जिंदगी दोबारा नहीं मिलती वक्‍त बदलने के!


तीन चीजें इंसान कभी नहीं खो सकता
शांति, आशा, और ईमानदारी!


सुंदरता की तलाश में चाहे हम सारी दुनिया का
चक्‍कर लगा आएं पर अगर वो हमारे अंदर नहीं है,
तो कही नहीं मिलेगी!!


नाम बड़ा किस काम का जो काम किसी के ना आये,
सागर से नदियॉं भली जो सबकी प्‍यास बुझाये!!


जीत हासिल करनी हो तो,
काबिलियत बढ़ाओं, किस्‍मत की रोटी तो
कुत्‍तों को भी नसीब होती है।


अगर कोई व्‍यक्ति आपसे जलता है,
तो ये उसकी बुरी आदत नही,
बल्कि आपकी काबिलियत है,
जो उसे ये काम करने पे मजबूर करती है।


अगर लगने लगे कि लक्ष्यह हासिल नहीं हो पाएगा,
तो लक्ष्यल को नहीं अपने प्रयासों को बदलें!!


एक मूर्ख खुद को बुद्धिमान समझता है,
लेकिन एक बुद्धिमान व्यमक्ति खुद को मूर्ख समझता है!

.——–

भगवान से ना डरो तो चलेगा
लेकिन कर्मो से जरूर डरना
क्‍योंकि किए हुए कर्मो का फल तो
भगवान को भी भोगना पड़ता है।


बुद्धि जिसके पास है उसी के पास बल होता है – चाणक्य नीति
हाथी जैसे विशाल जानवर को एक छोटे से अंकुश से वश में किया जा सकता है ये इसी बात का प्रमाण है कि बुद्धि और तेज में ज्यादा शक्ति होती है।


अँधेरा चाहे कितना भी घना हो लेकिन एक छोटा सा दीपक अँधेरे को चीरकर प्रकाश फैला देता है वैसे ही जीवन में चाहे कितना भी अँधेरा हो जाये विवेक रूपी प्रकाश अन्धकार को मिटा देता है


वज्र पर्वत से बहुत छोटा है लेकिन वज्र के प्रभाव से बड़े से बड़े पर्वत भी चकनाचूर हो जाते हैं


नीम के पेड़ को अगर दूध और घी से भी सींचा जाये तो भी नीम का वृक्ष मीठा नहीं हो जाता, उसी प्रकार दुष्ट व्यक्ति को कितना भी ज्ञान दे दो वो अपनी दुष्टता नहीं त्यागता


जिसने अपनी इच्छाओं पर काबू पा लिया, उस मनुष्य ने जीवन के दुखों पर काबू पा लिया.


संकट के समय धैर्य धारण करना मानो आधी लड़ाई जीत लेना है

बिना कुछ किये ज़िन्दगी गुज़ार देने से कहीं अच्छा है ज़िन्दगी को गलतियां करते गुज़ार देना


पाप एक प्रकार का अँधेरा है, जो ज्ञान का प्रकाश होते ही मिट जाता है


क्रोध हमेशा मनुष्य को तब आता है जब वह अपने आप को कमज़ोर और हारा हुआ पाता है