Categories
Whatsapp Messages

Padosan Ke sath ka anubhav Story

आपका पड़ोसी के साथ सबसे अजीब अनुभव क्या रहा हैं?

जी मेरा तो बहुत ही ख़राब ही अनुभव रहा है। मैं अपने पड़ोसियों से बहुत ही ज्यादा परेशान हु उनके रहन-सहन और उनके मकान के रख रखाव से और….

ये बात लगभग तीन साल पहले की है। तब मेरी नयी-नयी शादी हुई थी और मै अपने पती के साथ मुंबई शिफ्ट हों गयी थी।

वहाँ हम एक अच्छे इलाके मे सोसाइटी के अंदर रहते थे। हमारे सामने वाले घर मे एक लड़का और लड़की लिव-इन रिलेशनशिप मे रहते थे। कई बार उनसे हाय-हेलो हों जाता था और कभी-कभी हमारा कोई पार्सल आता और घर पर कोई नहीं होता तो वो रख लिया करते थे।

एक बार की बात है ज़ब रात क़ो लगभग 1:30 बजे घर की घंटी बजी। हम आम तौर पर उस समय तक सो जाते थे। मैने जा क़र दरवाजा खोला तो सामने रहने वाला लड़का खड़ा था और वो बोला –

भाभी, भईया है क्या?

मैने पुछा क्या काम है तो वो बोला की भईया से कुछ बात करनी है। फिर मैंने अंदर जा क़र उन्हें भेजा तो उसने कुछ कहा और फिर ये अंदर गये और वापस आ क़र उसे कुछ बोले और फिर वो चला गया।

मैंने उनसे पुछा क्या हुआ? वो क्या कह रहा था?

तो वो हस्ते हुए बोले की कंडोम मांग रहा था। मुझे ये बोहोत अजीब लगा कि इन बड़े शहरो मे लोग आसानी से ऐसी बातें कैसे बोल लेते है जबकी हमारे यहाँ तो पती से भी ऐसी बात करने मे शर्म आ जाती है।

शायद ये अब तक का मेरा सबसे अजीब अनुभव था पड़ोसी के साथ।


मेरी नयी-नयी शादी हुई थी और मै अपने पती के साथ मुंबई शिफ्ट हों गयी थी।

वहाँ हम एक अच्छे इलाके मे सोसाइटी के अंदर रहते थे। हमारे सामने वाले घर मे एक लड़का और लड़की लिव-इन रिलेशनशिप मे रहते थे। कई बार उनसे हाय-हेलो हों जाता था और कभी-कभी हमारा कोई पार्सल आता और घर पर कोई नहीं होता तो वो रख लिया करते थे।

एक बार की बात है ज़ब रात क़ो लगभग 1:30 बजे घर की घंटी बजी।

हम आम तौर पर उस समय तक सो जाते थे। मैने जा क़र दरवाजा खोला तो सामने रहने वाला लड़का खड़ा था और वो बोला –

भाभी, भईया है क्या?

मैने पुछा क्या काम है तो वो बोला की भईया से कुछ बात करनी है। फिर मैंने अंदर जा क़र उन्हें भेजा तो उसने कुछ कहा और फिर ये अंदर गये और वापस आ क़र उसे कुछ बोले और फिर वो चला गया।

मैंने उनसे पुछा क्या हुआ? वो क्या कह रहा था?

तो वो हस्ते हुए बोले की कंडोम मांग रहा था। मुझे ये बोहोत अजीब लगा कि इन बड़े शहरो मे लोग आसानी से ऐसी बातें कैसे बोल लेते है जबकी हमारे यहाँ तो पती से भी ऐसी बात करने मे शर्म आ जाती है।

शायद ये अब तक का मेरा सबसे अजीब अनुभव था पड़ोसी के साथ।

One reply on “Padosan Ke sath ka anubhav Story”

मेरे पड़ोसी पांच साल तक मेरा बाल शोषण किया।

ये बात तब की हैं ज़ब मै लगभग 6–7 साल की थी और हमारे पड़ोस मे एक अंकल रहते थे जो मेरे पिता से भी कम से कम 10–15 साल उम्र मे बड़े थे। उनकी बीवी का देहांत हो चुका था और उनके बच्चे दूसरे शहर मे रहते थे।

कई बार उनका हमारे घर आना जाना हुआ करता था। पहले तो मुझे समझ नहीं आता था ज़ब वो मुझे गोद मे बिठा क़र यहाँ वहाँ छुआ करते थे पर धीरे धीरे मुझे एहसास हुआ की ये सही नहीं हैं। मैंने कभी खुल क़र इस बारें मे अपने माँ बाप को नहीं बताया।

ज़ब मैंने उन्हें अब बताया की बचपन मे ऐसा होता था तो मै अपनी माँ का जवाब सुन क़र हैरान हो गयी — चुप क़र, वो काफी बड़े हैं। तूने ऐसे ही फालतू चीजें सोच लीं पर उनके मन मे ऐसा कुछ नहीं था।

शायद ये चीज़ सिर्फ मेरे साथ नहीं बल्की लाखों लड़कियों के साथ हो चुकी हैं। मै बस सभी माँ बाप से ये कहना चाहूंगी की अपने बच्चो की बात सुने और नज़रअंदाज़ ना करें। ये चीज़ सच मे किसी भी इंसान को मानसिक तौर पर घाव क़र सकती हैं और जीवन भर वो घाव चाह क़र भी नहीं मिटा सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *