राजनीती को समर्पित…

राजनीती को समर्पित ?

एक कहावत है —

पांचों उंगलियां बराबर नहीं होती —

पर एक सच और है —

खाते समय सब एक हो जाती हैं
….. !!

?????

“चूतियम आफ द अर्थ” अवार्ड का भी जल्द होगा ऐलान…

घूंघरु सेठ और शहजादे के बीच कांटे की टक्कर…??

आपके सभी हिसाब से किसे मिलना चाहिए यह अवार्ड.??