गाँव में दो सहेलियाँ 12 वीं की परीक्षा देने जा रही और आपस में बातें कर रही हैं।*👇

गाँव में दो सहेलियाँ 12 वीं की परीक्षा देने जा रही और आपस में बातें कर रही हैं।*👇

*शामली* : गामली, तू तो बिल्कुल भी पढ़ाई नहीं करती है।

*गामली* : छोड़ न यार! पास हुए तो फिर 13, 14, 15 वीं की परीक्षा दो और फिर नौकरी वाला पति।

*शामली* : तो ? बढ़िया तो है।

*गामली* : क्या बढ़िया है ? 12 घंटों की नौकरी और तनख्वाह 25-30 हजार। फिर मुंबई-पूना जैसे बड़े शहरों में रहने जाओ। वहाँ किराए का घर होगा जिसमें आधी तनख्वाह चली जाएगी। फिर अपना खुदका घर चाहिए तो लोन लेकर 4-5 मंजिल ऊपर घर लो और एक गुफा जैसे बंद घर में रहो। लोन चुकाने में 15-20 साल लगेंगे, न त्यौहारों में छुट्टी न गर्मी में। सदा बीमारी का घर। स्वस्थ रहना हो तो ऑर्गेनिक के नाम पर 3-4 गुना कीमत देकर सामान खरीदो। और तू सारा जोड़ घटाना गुणा भाग करले, तेरी समझ में आ जाएगा।

और अगर परीक्षा में फेल हो गई तो किसी खेती किसानी वाले किसान से ब्याह दी जाउँगी। जीवन थोड़ा तकलीफदेह तो होगा, पैसे कम ज्यादा होंगे लेकिन सारे अपने होंगे, कोई टेक्स का लफड़ा नहीं। सारा कुछ ऑर्गेनिक उपजाएँगे और वही खाएँगे। बीमारी की चिंता फिक्र ही नहीं, और सबसे बड़ी बात कि, पति 24 घंटे अपने साथ ही रहेगा।
और सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण बात ” सारी सरकारें हमारे वोटों के चक्कर में हमारा सारा लोन माफ कर देगी” और उस लोन को चुकायेगा कौन वही नोकरी वाला पति(समाज का बैल)।

*शामली* : मैं भी फेल ही हो जाऊँगी रे।

😂🤣🤣🤣🤣🤣🤣 
जनहित मे जारी …